Sarvartha Chintamani सर्वार्थ चिन्तामणि (Classic – Hindi) by Mahidhar Sharma

भूमिका।

प्रथम श्रीनगकर्ता ईश्वरको रामनाम धन्यवाद है कि जिसने श्रीगुरुरूप धारणकर, मुझ माकृत मनुष्य के कुण्ठित रदय मे विभिन्मात्र भूतिपदेगान्तर्गत ज्योतिष कलादेश का बीजारोपण विमा गो ममशः अंकुरित शक्ति पुष्पित होकर कडितस्कत्धमे कठित होरहाहै, न्योतिषके लोन कन्याम तापमान मत्यक्षफळबाधक गणित अनुकूल दोस्ती ही है जिसके विशेष प्रभार एवं सर्व साधारण उपकारार्थ में बहुत का से निन स्थामी भ्री १०८ मन्मदा- रामापिरान केदारसण्ट नि कोतवाल टिहरी नरेश कीर्ति शाह देन के, सी, बस, भाई की कषामें धर्माचिकारी पदषर बहुकर ज्योतिष का देशके मचारमें तापर है-मेरा परिश्रम मा गोगामण प्रतिपालक गेउ खेमराज श्रीकृष्णदास को सहायता से बराबर सफल होता यदि उन्हीं अनुमोदन से मैंने इस समय सर्वार्थचिन्तामणि नामक जातक অदेशमन्यी भाषाटोचा निर्माण कोडे क्योंकि यह परन्य बहुत मामानिक एवं सूचका मान्य है, कम ज्योतिष इसका समादर पर परन्तु भवत का टीका टिप्पणी में न थी और को जातकोतर “सनातक, माकुल, माता शिरोमणि, मी” মादि मेरे भाषा কাदित वक सुनने पे उनमें एक से एक गुणविशेष हैं तो भी उनकी संपेक्षा कितने ही विचार विशेष इसमें अन्य दगके दोनेमे तथा गृह एवं विशेष स्थळ पठादेश रिणामिं होने उनका सारांश विशेष पतानही जान सके सर्वसाधारण इससे लाभ नहीं उठासकते भीर जनादेश के उपयोगी चमाकारिक फल इसमें बहुत ही विशेष नाम है जिनके नाना से पोदा ज्योतिष मानने वाले भी विशेष धमलारफल करसकते। जन्मपत्री भादि कोमेडी प्रत्यक्ष मिलने पोप फंड चिकसक इसलिये सरलता हेतु मैंने सन्मति इसकी भाषाटीका रचीह, यहां कहीं त्रुटि, प्रमोद, वा भूल होगई दो बदन क्षमा करके परिशोधन करते हैं

Price INR 65

How to Order and Get the eBook

Tajika Nilakanthi Hindi by Mahidhar Sharma

Jataka Shiromani (Classic – Hindi) by Mahidhar Sharma

Muhurtha Chintamani (Classic – Hindi) by Mahidhar Sharma

Chamatkar Chintamani Jatak Granth of Bhatt Narayana (Classic – Hindi) by Mahidhar Sharma